Home > Mercury > Mr.Prakash Verma

Mr.Prakash Verma

मैं प्रकाश वर्मा बिलासपुर का रहने वाला हूं मैने अपने पोस्ट गे्रजुएट की पढ़ाई बिलासपुर के अच्छे कालेज में पूरा किया, साथ ही कम्प्यूटर की डिग्री लिया क्योंकि मिडिल क्लास फैमली से हूँ, इस कारण घर में शुरू से ही नौकरी को प्राथमिकता दी जाती थी और आस-पास यही माहौल था की पढ़ लिखकर नौकरी करना ही एक मात्र विकल्प है नौकरी मिलने से पहले यह लगता था की नौकरी मिलेगी तो जिंदगी शानदार हो जाएगी पर जैसे ही नौकरी करना चालू किया हकीकत मालूम हुआ की नौकरी में जाने का टाईम होता था वापस घर आने का समय नहीं होता था।
वहाँ ना ही अपने लिए और ना ही अपने परिवार के लिये समय होता था। समझ में आ गया कि नौकरी से जिंदगी में कुछ भी बदलाव नहीं हो सकता। इस तरह टेंशन से 3 साल बीत गया जिन्दगी में अँधेरा-ही-अँधेरा था, लेकिन एक कहावत है- कि सबसे ज्यादा अँधेरा तब होता है, जब थोड़े देर बाद सुबह होने वाली होती है। मैं कुछ करने का तलाश कर ही रहा था तब एक सज्जन के माध्यम से Safeshop की जानकारी मिली।
हमेशा Think Ever Higher की सोच के साथ जिन्दगी जीना चाहता रहा, इसलिए मैंने ऊँची सोच के साथ SafeShop में काम की शुरूआत की क्योंकि मुझे राजा-महाराजाओं की तरह जिन्दगी SafeShop से चाहिए था, इसलिए पूरे विश्वास के साथ मैंने काम किया और तीन साल में ही मैंने अपना डायमंडशिप पूरा किया। अपना और अपने परिवार का ढेर सारा सपना पूरा किया, और कर रहा हु| अपनी पसंद की कार खरीदी और आज मेरा घर किसी बड़े लक्जरी होटल से कम नहीं हैं, दो कार लिया मैंने अपना 50 लाख के बंगला का सपना पूरा किया,शानदार लक्सरी फ्लेट लिया विदेश यात्रा या हवाई यात्रा, लक्जरी लाईफ मेरे जिन्दगी का हिस्सा है। खुशी होती है और गर्व होता है की आज मैं एक गेजेतेड ऑफिसर के तनख्वाह से ज्यादा सरकार को महीने में टैक्स देता हु। खुशी ज्यादा इस बात से होती है यह शानदार बदलाव मेरे साथ मेरे बहुत सारे साथियों की जिन्दगी में भी आया और आ रहा है। सीनियर और सेफ शॉप और एसटीपी सिस्टम का धन्यवाद|

Spread the love