Home > Diamond > Late. Harsh Vastrakar

Late. Harsh Vastrakar

स्वर्गीय हर्ष वस्त्रकार (बिलासपुर, छत्तीसगढ़) जी अपनी जिंदगी में बहुत ही महत्वकांक्षी और आगे बढ़ने की सोच रखते थे. उन्होंने डॉक्टरी की डिग्री ली और उसी दौरान उन्हें सेफ शॉप बिजनेस मिला जहाँ उन्हें यह बात समझ आई की यह एक ऐसा बिजनेस है. जहाँ एक बार काम कर हम भी दुसरे अमीर लोगो की तरह अपना खुद का लोगो का नेटवर्क बना सकते हैं और उसके बाद जिंदगी भर बिना काम के पैसा कमाया जा सकता है. पूरी इम्मंदारी से वो इस बिजनेस में काम करने और अपने सपने पुरे करने में लग गये, परिणाम स्वरुप वे ब्यवसाय शुरू करने के शुरूआती 3 साल में ही 3 बार विदेश (थाईलैंड) यात्रा पर गये और उन्होंने खुद के लिये महिंद्रा जाईलो कार ले लिया.

06-07-2015 को कानपूर शहर में रोड हादसे के दौरान उन्हें काफी चोट आयी और इलाज के दौरान 11-07-2015 को वे हमे छोड़कर चले गये, वो दिन हम सभी के लिये बहुत ही दुखद दिन था लेकिन वे जाते जाते एक लायक और जिम्मेदार बेटे और भाई होने का फर्ज अदा कर गये, जीते जी उन्होंने जो काम किया परिणाम स्वरुप आज हर हप्ते STP और सेफ शॉप बिजनेस से उनके परिवार को महीने के हजारो रूपये कमीसन के रूप में मिलता है.

स्वर्गीय हर्ष वस्त्रकार जी का हमेशा से यह मानना रहा है की…

“काम ऐसा करो की नाम हो जाये, और नाम ऐसा बनाओ की सुनते ही काम हो जाये.”

Spread the love