Home > Diamond > Mr.Vaibhav Soni

Mr.Vaibhav Soni

मैं वैभव कुमार सोनी दुर्ग शहर से हूँ।मेरे पिताजी सरकारी नौकरी करते थे।मुझे शुरू से सिखाया गया कि सरकारी नौकरी करने से जिंदगी अच्छी हो जाती है,लेकिन यह बात मुझे बाद में समझ आई कि नौकरी करने से सारे सपने पूरे नही होते हैं। मेरे सपने शुरू से बड़े है इसलिए मै अच्छे से पढ़ाई किया और 12वी के बाद इंजीनियरिंग की पढ़ाई की इसके बाद मै सरकारी नौकरी की तलाश में जुटा रहा।।जिसके कारण 2008 में मैं साइंस कॉलेज दुर्ग में संविदा प्रोफेसर के रूप में नौकरी मिली।अब मुझे लगा सारे सपने पूरे होंगे ,पर मैं गलत था। मैंने देखा कि मेरे सपने सरकारी नौकरी करके पूरे नही हो सकते फिर अचानक मुझे सेफ शॉप की जानकारी मिली मैंने काम करना शुरू किया संविदा प्रोफेसर होने के कारण गर्मी के 3 माह पेमेन्ट नही मिलता था ।उस समय सेफ शॉप में काम करने के लिए पैसे की कमी हुई तब मैंने घर मे चर्चा की तो घर वालो में सेफ शॉप के लिए पैसा देने से मना कर दिया ,फिर मैंने अपनी वाइफ से बात की तब उसने कहा कि जेवर बेच देते है आप सफल हो जाओगे तो जेवर तो आ ही जायेगा। मैंने अपनी वाइफ के जेवर बेच दिए इसके बाद मैने अपना काम तेजी से सुरु किया लगातार सिस्टम में आता रहा अपने सीनियर श्री अतुल पाठक सर के मार्गदर्शन में चलता रहा और आज डायमंड तक पहुच गया ।मैं आज फुल टाइम लगभग 5 साल से काम कर रहा हु और मैने सेफ शॉप के माध्यम से अपनी वाइफ के लिए जेवर ख़रीदा घर के लिए सामान 2 TV ,और 2 कार खरीदा। अब मेरे सभी सपने पूरे होते जा रहे है।
धन्यवाद मेरे सीनियर सर, सेफ शॉप,मेरी फ़ैमिली मेरी वाइफ और मेरे साथियो का जिनके साथ देने से आज मैं डायमंड बन गया हूं।।

Spread the love