मैं दिव्य प्रकाश शर्मा कबीरधाम जिले के एक छोटे से गांव मजगांव का रहने वाला हूं गांव में पढ़ाई करने के बाद शहर जाकर एम.ए संस्कृत में यूनिवर्सिटी टाप कर गोल्ड मेडल हासिल किया शिक्षा कर्मी वर्ग 2 मैं सेवाएं देने के 4 वर्ष के बाद वर्ग 1 में मेरी पोस्टिंग हुई सुबह से लेकर शाम तक अपना समय देने के बाद भी सपने पूरे होने का कोई भी संभावना नहीं दिखती थी हमेशा भगवान से यह प्रार्थना करता था कि कोई ऐसा मौका मिले जिसमें मैं अपनी प्रतिभा और क्षमता का सही इस्तेमाल कर अपने और अपने परिवार के सपनों को पूरा कर सकूं शायद भगवान ने मेरी प्रार्थना सुनी और सेफ शॉप के प्लान देखने का मौका मिला और जॉइनिंग किया काम को लेकर कुछ शंकाएं मन में चल रही थी जिसे मेरे ग्रेट सीनियर मिस्टर किशन नेताम सर ने मेरा FIM( फर्स्ट इंफॉर्मेशन मीटिंग) करके मेरी शंकाओं को दूर किए जिससे मेरा आत्मविश्वास और बढ़ गया सीनियर के कहने पर लगातार ट्रेनिंग और सेमिनार में आता रहा सिल्वर और गोल्ड जैसे अचीवमेंट मिलने लगा मैंने हमेशा ही सेफ शॉप बिजनेस को प्राथमिकता दी और उस सरकारी नौकरी को इस्तीफा देकर सेफ शॉप में फुल टाइम आ गया मेरे पास आज शानदार मेरी दूसरी कार Maruti Suzuki का विटारा ब्रेजा जिसे 1100000 मैं खरीदी थी इस बिजनेस के माध्यम से मुझे भारत के महत्वपूर्ण स्थानों में घूमने का अवसर मिला और साथ ही साथ मुझे तीन बार विदेश यात्रा का मौका मिला मेरी यह सफलता जिन्होंने भी प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से मेरा साथ दिए उन सब लोगों को तहे दिल से धन्यवाद देना चाहूंगा मेरे सभी ग्रेट अप लाइन मि.किशन नेताम सर मि.रामेश पटेल सर और ग्रेट आप लाइन मि.अमित पाठक सर जिनका बहुमूल्य मार्ग दर्शन से सब सम्भव हुआ सभी सीनियर्स को बहुत बहुत धन्यवाद

Spread the love